ज़िंदगी ज़िंदगी नहीं जबतक मोहब्बत होती नही
ज़िंदगी ज़िंदगी नहीं जबतक मोहब्बत होती नही

मोहब्बत मोहब्बत नही जब तक हसा कर रुला देती नही
ज़िंदगी ज़िंदगी नहीं जबतक मोहब्बत होती नही ज़िंदगी ज़िंदगी नहीं जबतक मोहब्बत होती नही मोहब्बत मोहब्बत नही जब तक हसा कर रुला देती नही
1
0 Comments 0 Shares